Aesthetic Blasphemy

a million little things...

Link to I feel the fire (Hindi)
I feel the fire (Hindi)

दीप जला जाता है जाड़े की सुनसान रातों में, जब ठिठुरन के मारे दुबके से कुत्ते भी, अंजान राहगीरों पर नहीं...

Posted on: March 6, 2014 Read More
Link to The canvas of soot burns (Hindi)
The canvas of soot burns (Hindi)

आज यों ही पूजा का दिया जलाते हुए बचपन में दिए जलाना याद आ गया | छोटी उम्र में कोई कितना जिज्ञासु या शरारती रहा होगा,...

Posted on: Feb. 20, 2014 Read More
Link to Dinner Musings
Dinner Musings

आज यों ही याद आ गया कि यदि भोजन हाथों की अंगुलियों से किया जाए तो क्षुधा जल्दी शांत होती है, तृप्ति हो जाती है | कहते...

Posted on: Feb. 12, 2014 Read More
Link to Cradling the inner child.
Cradling the inner child.

अजीब है यह मन | कितना भटकता है | अगर चलने के लिए दो पैर दे दूं तो न जाने कितने ब्रह्मांड टाप जाए| इतनी चंचलता है...

Posted on: Feb. 6, 2014 Read More
Link to The Journey is on (Hindi)
The Journey is on (Hindi)

जीवन के सफर में बहुत सारे मोड़ आते हैं | यह कहना उचित होगा कि जीवन एक मोड़ों की श्रृंखला है | पर थोड़ा ध्यान देने पर दीखता...

Posted on: Feb. 6, 2014 Read More
Link to Being and not Being (Hindi)
Being and not Being (Hindi)

जर्मन मूल के एक वैज्ञानिक हाइजेनबर्ग ने एक सिद्धान्त दिया था – अनिश्चितता का सिद्धान्त | उनका मानना था की हम कभी भी...

Posted on: Feb. 5, 2014 Read More