Aesthetic Blasphemy

a million little things...

Link to I, without I (अनलहक)
I, without I (अनलहक)

Blasphemous Aesthete · Anhalak नींद से उठा तो हूं, पर कुछ मद सा (अभी) छाया है स्थिर चित में निरंकुश वेग, जैसे...

Posted on: yesterday Read More
Link to Mango man (आम के आम)
Mango man (आम के आम)

कहते हैं, प्यार करने की कोई उम्र नहीं होती *। पता नहीं । नहीं होती होगी, पर मौसम ज़रूर होता है - जैसे आम का होता है । उस...

Posted on: June 27, 2020 Read More
Link to Now you see me, now you don't
Now you see me, now you don't

पल में तोला, पल में माशा। जानते हो आज क्या हुआ? आज बरखा मुझसे मिलने आई। गहरे कोहरे की चादर ओढ़े, खूब ज़ोर ज़ोर से...

Posted on: June 5, 2020 Read More