Aesthetic Blasphemy

a million little things...

Link to The canvas of soot burns (Hindi)
The canvas of soot burns (Hindi)

आज यों ही पूजा का दिया जलाते हुए बचपन में दिए जलाना याद आ गया | छोटी उम्र में कोई कितना जिज्ञासु या शरारती रहा होगा,...

Posted on: Feb. 20, 2014 Read More
Link to Lighting Candles on a dark night(Hindi)
Lighting Candles on a dark night(Hindi)

कल्पना के हाथ से कमनीय जो मंदिर बना था भावना के हाथ ने जिसमें वितानों को तना था स्वप्न ने अपने करों से था जिसे...

Posted on: Feb. 19, 2014 Read More
Link to imagining familiarity
imagining familiarity

मैं तो मर जाऊं अगर सोचने लग जाऊं उसे, और वोह कितनी सहूलत से मुझे सोचती है, कितनी खुश-फहम है वो शख्स के हर मौसम ...

Posted on: Feb. 16, 2014 Read More
Link to moh-maya
moh-maya

प्राण न पागल हो तुम यों, पृथ्वी पर वह प्रेम कहाँ.. मोहमयी छलना भर है, भटको न अहो अब और यहाँ.. ऊपर को निरखो अब तो बस...

Posted on: Feb. 16, 2014 Read More
Link to Butterflies
Butterflies

मैं फूल टाँक रहा हूँ तुम्हारे जूड़े में, तुम्हारी आँख मसर्रत से झुकती जाती है, न जाने आज मैं क्या बात कहने वाला...

Posted on: Feb. 16, 2014 Read More